आईसीसी ने किया डकवर्थ लुईस के नियम में बदलाव

Share this article

  • अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने किया डकवर्थ लुईस के नियम बदलाव

  • अब ऐसे होगा बारिश वाले मैचों का फैसला जाने पूरी खबर


नमस्कार दोस्तों मैं आप सभी का स्वागत करता हूं समय मीडिया रिपोर्ट में है तो आज मैं आप सब को बताने वाला हूं कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने शनिवार को डकवर्थ लुईस के नियम में कुछ बदलाव किए हैं ।

तो क्रिकेट मैच में बारिश के बाद मैच का परिणाम निकालने के लिए कोई नियम का प्रयोग किया जाता है । लेकिन इसमें शनिवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने इस का नया प्रारूप जारी किया । इसके साथ ही आईसीसी ने अपने आचार संहिता और खेलने की स्थिति के आंकलन करने वाली प्रणाली में भी सुधार के मकसद से बदलाव किए हैं । आईसीसी के मुताबिक यह बदलाव रविवार 30 सितंबर को दक्षिण अफ्रीका और जिंबाब्वे के बीच होने वाले मैच से लागू हो जाएंगे ।

यह भी पढ़ें:-Asia cup 2018:-बांग्लादेशी टीम ने फिर किया एक बार नागिन डांस


यहां भी पढ़ें:-रोहित ने पकड़ाई खलील अहमद को एशिया कप 2018 की ट्रॉफी


यह भी पढ़ें:-धोनी ने संगकारा को पीछे छोड़ एक और रिकॉर्ड बनाया

यह एसडीएलस का तीसरा वर्जन है । जिसको दूसरी बार नया रूप दिया गया । पहली बार 2014 में आया था जिसको डीएलएस के नाम से जाना जाता था ।इसका मतलब है कि यह मौजूदा विश्लेषण 700 वनडे अंतरराष्ट्रीय मैचों , 428 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की जानकारी पर आधारित होगा । मौजूदा बदलाव का मतलब है कि टीम को लंबे समय के लिए अपने रन बनाने की गति तेज करनी होगी ।

साथ ही वनडे में औषध कोई बढ़ाना होगा । आसान भाषा में कहें तो बल्लेबाजी टीम को पारी के अंतिम ओवरों में अपने रन बनाने की गति को तेज करना होगा ।

अचार संहिता में शामिल हुए नए अपराध

आचार संहिता के मौजूदा अपराधों में नए अपराधी शामिल किए गए हैं । और कुछ मौजूदा प्राथमिक जुर्माने के स्तर को बदला है । इनमें अपराधों में लेवल 2 , 3 में गेंद से छेड़छाड़ को छोड़कर धोखाधड़ी से फायदा उठाने की कोशिश करना जैसे अपराध शामिल है ।

लेवल 3 अपराध के लिए अधिकतम सजा को 8:00 निलंबन अंक से बढ़ाकर 12 निलंबन अंक 6 टेस्ट मैच या 12 घंटे के बराबर कर दिया है  ।

अगर आप सभी को आईसीसी से जुड़ी और भी जानकारी चाहिए हो तो आप हमारे फेसबुक पेज समय मीडिया न्यूज़ को लाइक कर सकते हैं

समय मीडिया डॉट कॉम की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *